farmers

प्री मानसून ने बड़ाई किसानों की मुसीबत

Hindi News Home

प्री मानसून ने बड़ाई किसानों की मुसीबत

कहते है कोई भी कार्य हो वक्त पे ही हो वाही। सही रहता है वक्त से पहले आए मानसून ने इस कहावत को फिलहाल किसानों के लिए सही कर दिया है उत्तर भारत में मॉनसून ने इस वार अपने समय से। पहले ही दस्तक दे।

दी जिस। कारण। किसानों की फासले को नुक्सान पहुंच रहा है आपको बता दें कि इस समय पश्चिमी उत्तर प्रदेश में (मूंग ) दाल की खेती का काम चल रहा है जीयादा तर किसानों कि फसल खेत में खड़ी है या कट रही है बहुत काम किसान ही आए से है जो अपनी फसाल अपने खेत से उठा चुके है

डबल नुक्सान हो सकता है किसानों को 

वक्त से पहले हो रही बारिश की वजह से इस बार पश्चिमी उत्तर प्रदेश के किसानों को दोहरा नुकसान हो सकता है अक्सर मानसून जुलाई अगस्त के महीने में बरश्ता था जब धान कि खेती को लगाने का समय आता था और धान की खेती को लगाने के लिए अधिक मात्रा में पानी की जरूरत पड़ती है

अब जब  कि वक्त से पहले हो  रही बारिश उनकी मूंग दाल की फसल को बर्बाद कर देगी और जब धान कि खेती को लगाने का समय आए गा तक मानसून वापास जाने लगेगा

जल भराओ की वजह से शहर में रह रहे लोगों की भी बड़ी मुश्किलें

वैसे तो वारिश की बूंदे सभी को पसंद आती हैं पर जब हम किसी चीज की बाज़हा से मुश्किलों में आ जाएं तो कोई भी चीज हो उसका महत्व अपने आप। ही कम हो जाता है

लोग जब अपने घर से ऑफिस जा रहे है तो जगह जगह हुए जल भराव के कारण उनको कभी मुश्किल भी हो रही है खास कर के हमें ये समस्या देश के महानगरों में देखने को मिलती है सड़क पर ट्रैफिक जाम के साथ साथ वॉटर जाम और कीचड़ जाम से भी जूझना पड़ता है

Leave a Reply